जीवा के जन्म की खुशखबरी साक्षी ने धोनी को नहीं बल्कि इस क्रिकेटर को दी थी

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की बेटी जीवा धौनी क्यूट स्टार किड्स में शुमार है। धौनी और उनकी पत्नी साक्षी सोशल मीडिया पर जीवा की तस्वीर शेयर करते रहते हैं. धौनी और साक्षी के लिए जीवा बहुत ही स्पेशल है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि जीवा के जन्म की खुशखबरी साक्षी ने धौनी से पहले किसी और क्रिकेटर को दी थी। आइये बताते हैं हम आपको पूरी बात

A post shared by @mahi7781 on

2015 के दौरान भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में आईसीसी वर्ल्ड कप भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा थे। इसी समय, धोनी की पत्नी साक्षी ने 6 फरवरी 2015 को अपनी बेटी जिवा को जन्म दिया था, जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के पहले विश्व कप केखेल के दो दिन पहले था।

NCA all test's done.20 mtr in 2.91sec. Run a 3 done in 8.90sec.time for heavy lunch

A post shared by @mahi7781 on

अब प्रसिद्ध पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब, ‘डेमोक्रेसीज इलेवन: द ग्रेट इंडियन क्रिकेट स्टोरी’ में प्रकाश में आ गया है. इस किताब के अनुसार जैसा की धोनी तो मैच में बिजी थे इसलिए साक्षी ने सुरेषा रैना से बेटी जीवा के जन्म से सम्बंधित धोनी के साथ संवाद करने के लिए संपर्क किया था। पर जैसा की धोनी बिजी थे इसलिए साक्षी ने यह खुशखबरी रैना को पहले बताई और उन्हें यह बात धोनी को बताने को कही .

A post shared by @mahi7781 on

किताब के प्रकाशक, जागर्नॉट बुक्स, ने शुक्रवार को आईसीसी विश्व कप 2015 के दौरान इस घटना के बारे में ट्वीट किया, “जब एम् एस धोनी बीकेएम 2015 के विश्व कप के दौरान एक पिता बन गया, तो वह मोबाइल नहीं ले गए थे. तब उनकी पत्नी साक्षी ने क्रिकेटर रैना के माध्यम से [उसे सूचित करने के लिए] एक एसएमएस भेजा! #RajdeepsBook। ”

जिवा के जन्म के समय, धोनी को मीडिया ने पूछा था कि क्या वह अपनी बेटी के जन्म के दौरान भारत में होना मिस कर रहे है, जिसके जवाब में उन्होंने उत्तर दिया, “वास्तव में नहीं।” उनके लक्ष्य 2015 के विश्व कप के लिए निर्धारित किए गए थे क्योंकि उन्होंने आगे कहा, “जैसा कि अब मैं राष्ट्रीय कर्तव्यों पर हूं इसलिए मुझे लगता है कि सब कुछ इंतजार कर सकता है। विश्व कप बहुत ही महत्वपूर्ण अभियान है। ”

ziva and me

A post shared by @mahi7781 on

भारत ने 2011 के विश्वकप में क्रिकेट के इतिहास में दूसरी बार और धोनी की कप्तानी के तहत पहली बार जीत हासिल की। लेकिन 2015 में, भारत ने सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां वे 95 रनों से ऑस्ट्रेलिया से हार गए।

Comments

comments