इन्दर कुमार की पत्नी ने किया खुलासा- बोली इस कारण नहीं आये थे सलमान इन्दर की अंतिम यात्रा में

आधे से ज्यादा 2017 निकल चुका है. इस साल एंटरटेनमेंट जगत से काफी दुःख भरी खबरे आयी. काफी बड़े कलाकारों ने इस साल हमसे विदा ले ली. पर एक नाम जिसके जाने की खबर से अभी भी बॉलीवुड नहीं उभर पाया है वह है इन्दर कुमार की मौत. इन्दर कुमार बॉलीवुड के काफी मशहूर आर्टिस्ट थे.

source

उन्होंने अपने करियर में करीब 20 फिल्मो में काम किया है. इस साल उनकी मौत हार्ट अटैक आने से हुई. वह अपने मुंबई के घर में थे जब उनको हार्ट अटैक आया.

इन्दर सलमान के काफी करीबी दोस्त थे. उन्होंने सलमान के साथ वांटेड में भी काम किया था. ऐसे में सबको लग रहा था की इन्दर की अंतिम संस्कार में सलमान ज़रूर दिखेंगे. सबके लिए बहुत चौकाने वाली बात थी जब सलमान इन्दर की अंतिम यात्रा में नहीं दिखे. मीडिया में कई तरीके की बातें आने लगी. पर उन सब बातो को गलत बताते हुए इन्दर की पत्नी ने अब बताया है की क्यों सलमान नहीं आ पाए थे.

source

इंदर सलमान के भाई की तरह थे

इंदर की पत्नी पल्लवी  से जब पुछा गया तब उन्होंने कहा की,”मुझे पता है कि इंदर के अंतिम संस्कार में ना आने की वजह से सलमान खान कई सुर्खिया बटोर रहे हैं, उन्होंने मीडिया को कुछ चीजो को समझने के लिए कहा, सलमान इन्दर से कितना प्यार करते हैं इस बात  का अनुमान आप अंतिम संस्कार में हाजिर ना हो पाने की वजह से नही लगा सकते।

source

उन्होंने आगे कहा कि,” इंदर सलमान के भाई की तरह था,अगर अर्थी जल रही है और सलमान नहीं है और अगर अर्थी उठ रही है और सलमान नही इसका मतलब यह नही की सलमान इंदर से प्यार नही करता।”

source

क्या इंदर की मौत के बाद सलमान ने उनसे सम्पर्क करने की कोशिश की

इस पर उन्होंने कहा कि  “हाँ उन्होंने कोशिश की थी और इसपर इससे ज्यादा बात नहीं करते है. सलमान खान ने वह सब कुछ किया जो एक बड़े भाई को करना चाहिए. कोई मामले नीजी होते हैं और बेहतर यह ही होगा आपको इन बातों की इज्जत करनी चाहिए और ऐसी बातों को पब्लिक में नही उछालना चाहिए।

source

उन्होंने आगे कहा,”आपको बता दूँ कि सलमान खान की गाडी अभी भी हमारे पार्किंग में पड़ी है, यह बात सच है की इंदर के पास बहुत समय से काम नही था तो आप इस बात का अनुमान लगा सकते हैं कि इंदर ने इस बेरहम शहर में जिंदा रहने के लिए कितनी गाड़ियाँ बेचीं होंगी।”

जब उनसे पूछा गया की क्या यह सच है की इन्दर की अंतिम यात्रा में ज़्यादा लोग इकठे नहीं हुए थे तब उन्होंने कहा,  “लोगो को अपनी आँखें खोलकर देखना चाहिए की इन्दर के भाई ने अपना सिर मुंडवा कर इन्दर की चिता को अग्नि दी है।”

Comments

comments