यह किन्नरें किसी को भी अपनी सुंदरता से कर सकती है मंत्रमुग्ध, खुद देखिये इनकी तस्वीरे

पुराने समय से ही हमारे देश में  किन्नरों को बुरा माना जाता है उनको हमेशा से ही सोसाइटी से अलग रखा जाता है एक सकरात्मक बात  यह भी है कि आजकल लोग किन्नरों को उनका हक दिलाने के लिए आगे आ रहे हैं. एक समय ऐसा भी था जब किन्नरों  को किसी भी जेंडर  में गिना नहीं जाता था.  सुप्रीम कोर्ट ने उनको तीसरी जेंडर का दर्जा दिया।

 पहले लोग किन्नरों को नौकरी में भी रखने में संकोच करते थे. अब उनको लोग ऊंची पोस्ट में भी जगह दे रहे हैं. आज हम  आपको कुछ ऐसी किन्नरों से मिलवाने जा रहे हैं  जिनकी खूबसूरती  के आगे बड़ी बड़ी मॉडल्स भी फेल है

सोपिडा सिरिवत्तॅनानुकून

source

सोफिदा ‘ ‘Miss Tiffany’s Universe 2015 की विजेता  और मिस इंटरनेशनल क्वीन 2015’ की सेकंड रनरअप रही हैं। इसके साथ साथ सोपिडा को डांसिंग और सिंगिंग का भी काफी शौक हे.

नथालिए ओलिवेरा

source

नथालिए ब्राजील से ताल्लुक रखने वाली है.  नथालिए ‘मिस इंटरनेशनल क्वीन 2016’ की रनरअप रही है. इससे पहले ब्राजील में भी ब्यूटी पीजेंट कॉम्पिटीशन जीत चुकी हैं।

इसाबेल्ला सेंटिआगो

source

इसाबेल्ला वेनुजुएला से है. वह मिस इंटरनेशनल क्वीन 2014′ की विनर हैं। इसाबेल्ला एक मशहूरऔर सक्सेस्फुल हीरोइन बनने का ख्वाब रखती है और उसी के लिए काम कर रही है.

ट्रिक्सी मरिस्टेला

source

Trixie फिलीपीन्स से तालुक रखती हैं. यूरोपियन लैंग्वेज में ग्रेजुएट Trixie ‘मिस इंटरनेशनल क्वीन 2015’ की विजेता रही है. इतना हे नहीं ट्रिक्सी एलजीबीटी राइट्स एडवोकेट भी हैं और ट्रांसजेन्गेर्स के हक़ के लिए लड़ती है.

जिराटचाया सिरीमोंगकॉनविन

source

जिराटचाया थाईलैंड से तालुक रखती है. जिराट ‘मिस इंटरनेशनल क्वीन 2016’ की विजेता हैं। यह खूबसूरत ट्रांसजेंडर मॉडल और फैशन डिजाइनर भी है.

पियादा इँटहवांग

source

पियादा लाओस से है और उनका जन्म एक अपर मिडिल क्लास फैमिली में हुआ था। वह काफी समय तक तोह लड़के की तरह रही. एक बार उनका फिथाईलैंड का ट्रिप हुआ जिससे लौटने के बाद उनका मन बदल गया। पियादा ”मिस इंटरनेशनल क्वीन 2014′ की सेकंड रनरअप थीं।

बिशेष हुइरेम

source

बिशेष मणिपुर से हे और कई डिजाइनिंग पुरस्कार जीत चुकी हैं. काफी काम लोगो को पता है की थाईलैंड में एक ‘मिस इंटरनेशनल क्वीन’ ब्यूटी कांटेस्ट का आयोजन होता है. मिस इंटरनेशनल क्वीन 2016′ में भारत बिशेष हुइरेम सिलेक्ट हुई थी. गर्व की बात यह हे की वह भारत की पहली ट्रांसजेंडर थी जिनको इस ब्यूटी पेजेंट  के लिए चुना गया था.

Comments

comments