बहन ने खरीद कर दिए थे अपनी सेविंग से जूते, आज है टीम इंडिया का स्टार क्रिकेटर

कौन कहता है आसमान में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों ! इंसान अगर कुछ करने की ठान लेता है तो उसके लिए कुछ भी असंभव नहीं रहता! इसी बात को हमारे देश के एक इंडियन क्रिकेटर ने सच क्र दिखाया है! कठिन परिस्थितियों में भी अपनी लगन और मेहनत से अपने सपने को सच कर दिखाया है इस क्रिकेटर ने! अपनी इसी ईमानदारी से की हुई मेहनत के कारण आज वो बुलंदी पर है!

चारो ओर इनकी सफलता का शोर है! लेकिन इस मुकाम तक पहुंचने का सफर बहुत ही कठिन था! जिसे तय करना हर किसी के बस में नहीं होता! इनकी मेहनत ओर सफलता का मुख्य हाथ इनकी बहन का भी था!

source

चलिए आपको बताते है इस क्रिकेटर के बारे में! हम बात कर रहे है स्टार क्रिकेटर भुवनेशवर कुमार की ! हाल ही में श्रीलंका के साथ खेले गए दूसरे वनडे में 53 रनो की शानदार पारी खेलकर टीम इंडिया तो एक शानदार जीत दिलाई ! भुवनेश्वा कुमार का जन्म उत्तर प्रदेश के मेरठ में हुआ! वो बचपन से ही एक क्रिकेटर बनना चाहते थे!

source

हलाकि घर की परिस्तिथि ऐसी नहीं थी की अपने इस सपने को पूरा कर सके! लेकिन उनके इस सपने को हकीकत में बदलने के लिए उनकी बहन ने उन्हें भरपूर सहयोग दिया! उनके पिताजी की सैलरी इतनी नहीं थी की वो भुवनेश्वर को क्रिकेट अकादमी भेज सके!

source

उनकी बहन ने भुवि के सपने को पूरा करने की जिम्मेदारी अपने सर पर ली ! उन्होंने भुवनेश्वर का दाखिला एक पास की क्रिकेट अकादमी में करवाया! उनकी बहन ने इस बारे में बताया था की उनके घर अकादमी लगभग 7-8 किलोमीटर दूर थी! उस समय भुवनेश्वर को रास्ता ठीक से मालूम ना होने के कारण वह खुद उन्हें वहा तक छोड़ने जाती थी !

भुवनेश्वर भी वहा मन लगाकर मेहनत करते थे! उनकी मेहनत रंग लायी ओर उनका चयन अंडर-17 टूर्नामेंट में हो गया! उस समय भुवनेश्वर के पास नए जूते नहीं थे ! उनकी बहन ने अपनी सेविंग के पैसो से उन्हें नए जूते लाकर दिए थे!

source

कहते है न की काबिल बनो तो कामयाबी खुद पीछे चलकर आएगी! भुवनेश्वर की कड़ी मेहनत ओर उनकी बहन का समर्थन आखिरकार रंग लाया ! उनका चयन टीम इंडिया के लिए हो गया! इंडियन क्रिकेट टीम में शानदार प्रदर्शन करते हुवे उन्होंने अपना एक अलग स्थान बनाया! उन्होंने खुद को साबित किया ! वैसे तो उनका चयन एक बोलर के रूप में हुआ लेकिन श्रीलंका से हुवे मुकाबले में उन्होंने अपने बल्ले से जो कमाल दिखाया वो हम सबने देखा! आज उनकी सफलता का शोर चारो ओर है!

Comments

comments