सेना चला सकेगी मीलो दूर से हथियार, कुशीनगर जिले के छात्र ने बनाई नई डिवाइस !

जैसा की एक कहावत है – जहा चाह वहा राह ! अगर आपके अंदर किसी काम को करने की लगन है तो आप असंभव काम को भी संभव बना सकते हो ! इंसान एक बार ये ठान ले कि उसे ये काम करना है तो उसकी मेहनत और लगन उसे जरूर सफलता देती है ! ये बात साबित कर दिखाई है कुशीनगर जिले के एक किसान के बेटें ने ! उसने एक ऐसी डिवाइस का निर्माण किआ है जो कि हमारी सेना के बहुत काम भी आ सकती है !

डिवाइस की खूबी

संदीप पासवान कहते है की उन्होंने ऐसी डिवाइस का निर्माण किया है जिसकी मदद से किसी भी उपकरण को मीलो दूर से कंट्रोल कर सकते है ! इसके जरिये आप मोबाइल से किसी भी हथियार जैसे रिवाल्वर , बन्दूक जैसे कई हथियार कंट्रोल कर सकते है !

Source

सेना को भी इससे अवगत कराया जा सकता है

संदीप की माने तो यह डिवाइस सेना के लिए बहुत फायदेमंद रहेगी, क्योकि ऐसे हथियारों की सेना को बहुत जरुरत है ! अगर ये डिवाइस सफल रही तो जल्दी ही ये डिवाइस सेना को इस डिवाइस से अवगत कराया जायेगा

डिवाइस का निर्माण

संदीप को बचपन से ही इन कामो में रूचि थी ! संदीप के पिता कहते है की संदीप को बचपन से ही तारो को जोड़ना आदि में रूचि थी ! हालांकि 12th पास करने के बाद संदीप ने आर्ट्स चुनी लेकिन उसकी रूचि नहीं बदली ! वो इन्ही सब कामो में रहता था ! संदीप का अपने पिता के बारे में कहना है कि उन्होंने संदीप को कभी भी डांटा नहीं और हमेशा साथ रहकर होंसला बढ़ाया ! संदीप आगे कहते है कि कि अगर उससे कोई भी गलती होती तो उसके पिता उसे समझते थे और फिर वो ऐसे ही काम करते रहता !

डिवाइस का आईडिया एक जवान के शहीद होने से आया

जब संदीप से डिवाइस के आईडिया के बारे में पुछा गया तो उसने बताया कि एक बार न्यूज़ में उसने पढ़ा कि एक और जवान शहीद हो गया ! इस न्यूज़ ने उसके दिमाग में खलबली मचा दी ! वह सोचने लगा कि कोई ऐसी डिवाइस हो जो कि एक सुरक्षित जगह से कंट्रोल हो सके तो यह बहुत मददगार हो सकती है ! उसने सोचा कि कुछ ऐसा बनाया जाये जिसमे कि जवान शहीद न हो ! संदीप कहते है कि उन्होंने तरंगो को विधुत में बदलने का प्रयास किया और करीब 2 महीने बाद उन्हें इस डिवाइस को बनाने में सफलता मिली !

करना चाहते है और भी बदलाव

संदीप का कहना है कि वो इस डिवाइस में और भी कई बदलाव लाना चाहते है लेकिन उनके पास इतने पैसे नहीं है की वो और पार्ट्स ला पाए ! संदीप कहते है उन्हें कोई उम्मीद नहीं है की लोग इस काम में उसका साथ देंगे लेकिन उन्हें खुद पर विश्वास है की वो इस डिवाइस को किसी दिन एक सफल डिवाइस बना कर दिखाएंगे

 

Comments

comments