अरबों की कंपनी का मालिक आज हो गया है पाई पाई का मोहताज

रेमंड कंपनी के पूर्व मालिक डॉ. विजयपत सिंघानिया की ज़िन्दगी आजकल नरक बनी हुई है. इसका कारण और कोई नहीं बल्कि उनके सगे बेटे गौतम सिंघानिया हैं. रेमंड इंडिया की टॉप ब्रांड्स में शुमार है लेकिन आज इसके मालिक की हालत ऐसी होगी है की पाई पाई के लिए वो तरसते हैं.

आजकल उनके घर में गृहयुद्ध छिड़ा हुआ है. सिंघानिया ने अपने बेटे को आरोपी बताते हुए कहा की बेटे गौतम ने उन्हें एक-एक पैसे का मोहताज बना दिया है.

इतना ही नहीं बेटे ने उनसे ड्राइवर और गाड़ी तक छिन ली है. फिलहाल वो एक किराये के घर में रह रहे हैं. उनके वकील ने बुधवार को बताया कि रिटायर्ड विजयपत सिंघानिया आर्थिक तौर पर कमजोर हो गए हैं.

उन्होंने रिटायर होने पर अपनी कंपनी के सभी शेयर्स अपने बेटे गौतम के नाम पर कर दिए जिसकी वजह से आज उन्हें ये दिन देखना पढ़ रहा है. गौतम कंपनी के वर्तमान चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं.

मुंबई के एक नेवसपपेर के अनुसार विजातपत आजकल साउथ मुंबई की ग्रैंड पराडी सोसाइटी में किराए के घर में रह रहे हैं. उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट में एक रिट दायर की है. इसके अनुसार उन्हें मालाबार हिल के ३६ मंजिला जेके हाउस में पजेशन दिया जाए.

विजयपत सिंघानिया के वकील दिनयार मेडॉन ने कोर्ट में बताया कि ७८ वर्षीय सिंघानिया ने अपनी सारी संपत्ति अपने बेटे के नाम कर दी. परन्तु अब वो उनपर ध्यान देने या उनकी सेवा करने से पीछे हट गए हैं.

सिंघानिया ने अपने सरे शेयर्स जिनकी कीमत १००० करोड़ रूपए थी सभी अपने बेटे के नाम कर दी लेकिन बदले में उनके बेटे ने उन्हें बेसहारा छोड़ दिया है. उनसे उनकी गाड़ी और ड्राइवर भी छिन लिए गए.

आपको बता दे की विजयपत सिंघानिया का जेके हाउस का घर मुकेश अंबानी के एंटीलिया से भी ऊंचे है. एक वक़्त था जब में अरबों के मालिक विजयपथ अपने परिवार के साथ इस घर में बड़ी शान से रहते थे पर आज उन्हें दर दर की ठोकरें खानी पढ़ रही हैं.

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो इसे लाईक और शेयर करना ना भूलें.

Comments

comments