क्या आप जानते है की कुत्ते रात में क्यों रोते है. इसके पीछे है वैज्ञानिक कारण

आप दुनिया में कहीं भी रहते हो आपने रात में निश्चित रूप से कुत्तों का रोना सुना होगा. कुतो के रोने के ऊपर कई बातें कहीं जाता है. उनका रोना सुनकर आपके मन में ये सवाल अक्सर आता होगा कि आखिर कुत्ते रात में रोते क्यों हैं?कुछ लोगो का मानना है की कुत्तों का रोना कुछ बुरा होने का संकेत देता है.

source

दूसरी तरफ कुछ लोग है जो मानते है की रात के समय में आत्माये बाहर आती है और कुत्ते उन्हें देख पाते है. आत्माओं को देखकर कुत्ते रो कर लोगो को संकेत देने की कोशिश करते है. हम यह नहीं कहेंगे की यह पूरी तरफ से अंध विश्वास हे है. पर अभी तक इन बातो का कोई सबूत नई दिखा है तो इन पर विश्वास करना मुश्किल है.

source

जिसको हम कुत्तों का रोना कहते है उसे अंग्रेजी में हाउल भी कहते हैं.  क्या आप जानना चाहते हैं कि क्यों कुत्ते रात के समय में हाउल क्यों करते है. आज हम आपको कुत्तों के रोने के पीछे का वैज्ञानिक कारण बताएंगे.

source

असल में, यह कुत्तों का उनके संचार का प्राकृतिक तरीका है। इसके अलावा, कुत्ते के बारे में कुछ अन्य कारण भी हैं, लेकिन सबसे ज्यादा स्वीकृत विश्वास यह है, “कुत्ते भेड़ियों के उत्तराधिकारी हैं और वे कुछ भेड़िये के पात्रों को लेते हैं और उनमें से एक है।” कुछ अन्य अवधारणाएं भी हैं,

1. संचार का एक तरीका

जंगल में यह आवाज़ निकाल कर भेड़िये एक दुसरे के साथ बात करते है. उनकी उपस्थिति और वर्तमान स्थान के बारे में सूचित करने के लिए वे अपने अलग पैक सदस्यों को एक संदेश भेजने के लिए इस आवाज़ का उपयोग करते है. यह विधि उन्हें एक-दूसरे को खोजने में मदद करती है और कुत्तों ने भी यही तरीका अपनाया है उनसे अपने साथियों से बात करने के लिए.

source

2. जुदाई की चिंता

कुत्तों के स्वाभाविक रूप से उन जानवरों को पैक किया जाता है जिनके पास अलग होने की चिंता है। जब वे अपने पैक से अलग महसूस करते हैं, या उनके पैक से कोई सदस्य गायब होता है। वे गड़बड़ सदस्य को एक संदेश भेजने के लिए चिल्लाना को ट्रिगर करते हैं जिसका अर्थ है “मैं यहाँ हूँ, आप कहां हैं”? भटका कुत्तों में भी इसी तरह के व्यवहार को देखा जाता है, स्वयं उनके पैक से अलग होता है या वे किसी भी पैक के सदस्यों को याद करते हैं, तो वे ऐसी आवाज़े निकालते है.

source

3.  बिमारी में

कभी-कभी जब वे बीमार होते हैं या कुछ शारीरिक रूप से उनके साथ गलत होते हैं और वे आंतरिक दर्द से पीड़ित होते हैं तो वह ऐसी आवाज़े निकाल कर अपना दुःख ज़ाहिर करते है.

रात में ही क्यों रोने वाली आवाज़ निकालते है कुत्ते ?

सबसे पहले, वे केवल रात में हौल नहीं करते लेकिन आमतौर पर वे रात में हे ऐसी रोने वाली आवाज़े निकालते है. इसके पीछे ठोस कारण यह है.  दिन में उन्हें यातायात, इंसान, संगीत इत्यादि के बहुत सारे शोर मिलते हैं, इसलिए दिन में आमतौर पर वे आराम करते हैं और सोते हैं और कम सक्रिय रहते हैं।

source

लेकिन रात के आसपास रात के 11:00 के बाद वे एक अलग और अधिक उपयुक्त निवास स्थान ढूँढ सकते हैं जहां वे एक-दूसरे को सुन सकते हैं, स्वतंत्र रूप से घूमते रहें और वे अधिक उपयुक्त जीवन प्राप्त करते हैं, जैसे एक जंगली जीविका जो उन्हें उत्तेजित और ऊर्जावान बनाती है जो उन्हें अपने प्राकृतिक जीवन के लिए बढ़ावा देती है.

source

 

वे दिन में कभी-कभी कर्कश आवाज करते हैं और कई अन्य शोर के बीच उनकी आवाज़ खो जाती है लेकिन रात में उनकी आवाज़ स्पष्ट रूप से सुनने योग्य होती है.

Comments

comments