रामायण में श्री ‘राम’ बनकर किया दिलों पर राज और आज यह काम करके चला रहे है घर

अरुण गोविल एक ऐसे शख्सियत है जिनको लोग उनके असली नाम से कम बल्कि राम नाम से ज़्यादा जानते हे. अरुण ने रामानंद सागर के मशहूर धारावाहिक रामायण में काम किआ था.अगर आपको पता न हो तो रामयण में मुख्य किरदार भगवान् श्री राम का इन्होने ही निभाया था.

Ramsource

लोग इनको रामायण के राम नाम से बुलाने लग गए थे. इतना ही नहीं इनको भगवान् राम जैसा मान सम्मान भी मिलने लग गया. पर किसको पता था की यही इनके करियर पे भारी पढ़ जाएगा.

वह भगवान् राम की भूमिका में इतना लोगो को पसंद आ गए थे की उनको किसी और रूप में पसंद ही नहीं किया गया.
अरुण का जन्म 12 जनवरी 1958 को मेरठ में हुआ था.

source

अपनी जवानी के दिनों में ही अरुण ने कई नाटकों में अभिनय किया, मगर उनका इरादा अभिनय के क्षेत्र में कैरियर बनाने का कभी  नहीं था. अपने भाई के साथ व्यवसाय के लिए मुंबई आ गए.  मगर जब काम अच्छा नहीं चला तो उनको पेट भरने के लिए अभिनय के क्षेत्र में उतरना पढ़ा.

source

साल 1977 में उनको पहला रोल ‘पहेली’ फिल्म में में मिला था. फिल्म पहेली के बाद उन्होंने सीरियल ‘विक्रम और बेताल’ में काम किया. विक्रम और बेताल में अरुण राजा विक्रमादित्य बने और बड़ी खूबी के साथ काम किया. उनके अभिनय को देखकर उनको रामानंद सागर की ‘रामायण’ में श्रीराम के रोल मिला.

source

नहीं निकल पाए श्री राम की भूमिका से

भगवान् श्रीराम की भूमिका ने लोगो ने अरुण को बहुत पसंद किया. जब भी लोग अरुण से मिलते तो बड़े आदर सामान देते. पर यही उनके करियर पे भारी पढ़ गया. अरुण इस भूमिका से निकल नहीं पाए. इसलिए न उनको लोग दूसरी भूमिका में पसंद करते और न डायरेक्टर उनको कोई अलग रोल देते.

source

सामाजिक कार्यो को करने में जुट गए

अरुण गोविल ने भगवान् श्री राम के आदर्शों को अपनी जिंदगी में शामिल करने का सोच लिया और ब्रह्मऋषि श्री कुमार स्वामी के मार्गदर्शन में सामाजिक कार्यो को करने में जुट गए.

Comments

comments