22 साल की उम्र में ही बन गयी आईपीएस. इस तरीके से तैयारी कर पहली बार में हो गया सेलेक्शन

काफी लोग आईपीएस अफसर बनने का सपना देखते है. पर केवल कुछ ही लोग होते है जो अपने इस सपने को सच कर पाते है. केरल में जन्मी मरीन जोसफ सिर्फ 22 साल की थी जब वह आईपीएस अफसर बन गयी.

source

जिस उम्र में बच्चे अपने पसंदीदा कार्टून के बारे में सोचने में आधे से ज़्यादा समय लगा देते है उस उम्र में मरीन ने सिविल सर्विस सर्विस ज्वाइन करने का सोच लिया था. फिर क्या उन्होंने कुछ समय बाद से ही तैयारी शुरू कर दी.

नियामत तौर से रोज़ पढाई कर और खुद नोट्स बना कर मरीन पहली बार में ही आईपीएस की परीक्षा में पास हो गई और एक आईपीएस अफसर बन गयी. इस साल वे प्रमोट होकर SP बन गई हैं और कमांडेंट ऑफ केरल ऑर्म्ड पुलिस बटालियन 2 में पोस्टेड हुई है. आपको बता दे की इस पोस्ट पर बैठने वाली वे पहली महिला हैं.

source

मेरीन जोसफ का जन्म केरल में ही हुआ था, छठि कक्षा में थी जब उन्होंने आईपीएस बनने का सोच लिया था.तभी से कर दी थी तैयारी शुरू. उनके पिता कृषि मंत्रालय में प्रमुख सलाहकार हैं और उनकी मां अर्थशास्त्र की टीचर हैं. मेरीन को बुक्स पढ़ना बहुत पसंद है, वे जहां भी जाती हैं बैग भर कर बुक खरीद लाती हैं.

source

सन् 2012 में मरीन ने अपना पहला आईपीएस का एग्जाम दिया और पहले एटेम्पट में ही पास हो गई. मेरीन दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज में पढ़ी हुई है. उनके पास बीए ऑनर्स और MA हिस्ट्री की डिग्री है. परेड को कमांड करने वाली सबसे कम उम्र की अफसर बनीं.

source

मरीन की ट्रेनिंग हैदराबाद में हुई थी. यही पर उन्होंने स्विमिंग से लेकर हथियार चलना सीखा. वह रोज़ सुबह 4.45 बजे उठ जाती थी और 4-5 किलो मीटर रनिंग करती थी. जो जो एक आईपीएस अफसर को आना चाहिए वो सब उनको इस ट्रेनिंग में सिखाया गया था.

source

मरीन बताती है की वह 24 घण्टे सतर्क रहती है और किसी भी मुसीबत से  लड़ने के लिए हमेशा तैयार रहती है. 2016 में उन्होंने स्वतंत्रता दिवस परेड को कमांड किया था. आपको बता दे की वह परेड को कमांड करने वाली सबसे कम उम्र की अफसर थी.

Comments

comments