देखिये इंडियन क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों की बहनो को, नहीं है किसी से कम

इंडियन क्रिकेटर्स हमेशा से ही सुर्खियों में छाए रहते है| किसी मैच के दौरान जब ये क्रिकेटर शानदार प्रर्दशन करते है फिर तो इनके बारे में कुछ अनसुनी बाते भी बाहर आने लगती है| आज हम आपको बताएंगे इन क्रिकेटर्स की बहनो के बारे में| जी हां इन क्रिकेटर्स की बहने है बेहद खूबसूरत और इन्होने अपने भाइयो को क्रिकेट के लिए बहोत सपोर्ट भी किया है|

रविंद्र जडेजा और नैना

source

जडेजा ने 17 साल की उम्र में ही अपनी माँ को खो दिया था| उसके बाद जडेजा की बहन ने उनकी माँ की कमी पूरी की| नैना जल्दी ही काम करना शुरू कर नर्स बन गयी और अपने फैमिली की हेल्प करने लगी थी| उनकी ये मेहनत बेशक रंग लायी| जडेजा का सिलेक्शन इंडियन क्रिकेट टीम में हो गया| अब वो फ़िलहाल जामनगर में रह रहे है|

शिखर धवन और श्रेष्ठा

source

शिखर धवन भारत के ओपनिंग बैट्समैन है| इंडियन क्रिकेट टीम के अलावा वो दिल्ली के लिए घरेलू मैच भी खेलते है| उनकी बहन श्रेष्ट उनसे उम्र में छोटी है|

विराट कोहली और भावना

source

विराट कोहली अपनी बहन भावना के काफी करीब है| विराट के पिता की मौत 2006 में हो गयी थी| उसके बाद से विराट की दीदी उनके लिए काफी मायने रखती है|

महेंद्र सिंह धोनी और जयंती गुप्ता

source

महेंद्र सिंह धोनी इंडियन क्रिकेट टीम का एक बड़ा नाम है| 2007-2016 तक धोनी इंडियन टीम के कप्तान रहे थे| धोनी की बहन जयंती उन्हें काफी सपोर्ट करती है| धोनी के पिता नहीं चाहते थे की धोनी अपना टाइम क्रिकेट में बर्बाद करे| वो हमेशा महेंद्र सिंह से पढ़ाई में फोकस करने को कहते थे जैसा की हर माँ बाप अपने बच्चो से कहते है| लेकिन जयंती और धोनी की माँ दोनों ने उन्हें अपने passion को फॉलो करने के लिए प्रोत्साहित किया|

गौतम गंभीर और एकता

source

गंभीर और उनकी बहन का रिश्ता एक बेस्ट फ्रेंड जैसा है| जब भी गौतम किसी बात से परेशान होते है तो एकता ही उनमे आत्मविश्वास जगती है| आप क्रिकेट फैन है तो ये तो आप जानते ही होंगे की साल 2009 में गंभीर ने श्री लंका के खिलाफ अपना टेस्ट मैच मिस कर दिया था ताकि वो अपनी बहन की शादी अटेंड कर सके|

सचिन तेंदुलकर और सविता

source

आपको बता दे की सविता सचिन की सौतेली बहन है| लेकिन वो सविता ही थी जिन्होंने सचिन के इस करियर को प्रोत्साहित किया था| उसके बाद सचिन के बारे में तो आज पूरी दुनिया जानती है|

वीरेंदर सेहवाग और अंजू मेहरवाल

source

वीरेंदर सेहवाग हमेशा अपनी बहन के लिए तैयार रहते है| IPL 2012 के दौरान सेहवाग ने कुछ समय निकालकर अपनी बहन के कैंपेन को भी सपोर्ट किया था| उनकी बहन MCD के वो इलेक्शन जीती भी थी|

Comments

comments