इस इंडियन क्रिकेटर के दादा टेंपो चलाकर भर रहे हैं पेट, पोता कमा रहा है करोड़ो

युवा भारत के प्रसिद्ध गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ! जिनके नाम Twenty20 International में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है ! उनके बारे में जो खबर सामने आयी है वो वाकई हैरान करने वाली है ! बुमराह भारत के बहुमूल्य गेंदबाज़ो में से एक है जो की अपनी मेहनत और प्रतिभा से करोड़ो कमा रहे है ! लेकिन चौकाने वाली बात है की उनके दादा संतोषसिंह बुमराह को बुढ़ापे में टेंपो चलाकर अपना पेट पलना पड़ रहा है ! बुमराह के दादा की उम्र 84 साल है और वह उत्तराखंड में उधम सिंह नगर जिले के किच्छा में किराये के मकान में रहते है !

बताया जा रहा है कि जसप्रीत बुमराह के पिता के निधन के बाद किसी पारिवारिक कारणों से वो अलग हो गए थे ! जसप्रीत बुमराह और उनकी माँ दलजीत बुमराह दोनों अपने दादा से अलग हो गए थे ! उसके बाद वो अपने दादा से कभी नहीं मिले !

Source

अहमदाबाद में थे तीन कारखाने

बुमराह का परिवार पहले अहमदाबाद में रहता था और उनके फेब्रिकेशन के तीन कारखाने थे ! जसप्रीत के पिता जसबीर सिंह का निधन 2001 में पीलिया होने के कारण हो गया था! जिस वजह से संतोखसिंह टूट चुके थे ! अपने बेटे की मौत के बाद संतोखसिंह का मन भी कारोबार से हट चुका था जिस वजह से उनपर बैंकों का कहर चढ़ गया। क़र्ज़ को चुकाने में उनकी फैक्ट्रीज और कारखाने बिक गए !

2006 में आये उत्तराखंड

संतोखसिंह 2006 में ऊधमसिंह नगर आ गए और चार टैंपो खरीदकर किच्छा से रुद्रपुर चलना शुरू कर दिया ! लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंज़ूर था, उन्हें 3 टेम्पो बेचने पड़ गए ! जसप्रीत बुमराह की दादी का निधन भी 2010 में हो चुका है और चाचा विकलांग हैं ! लम्बे समय तक जसप्रीत कि बुआ ने ही पिता संतोखसिंह और अपने भाई का खर्च उठाया था !

Source

संतोखसिंह कहते है कि “मेरी यह दुआ है कि पोता क्रिकेट के खेल में खूब तरक्की करे और देश का नाम रोशन करे। मेरी आखिरी तमन्नाा है कि एक बार अपने पोते को गले से लगा सकूं।”

Comments

comments