यहाँ दुल्हन की मुँह दिखाई नहीं बल्कि लगायी जाती है उसकी बोली..

भारत एक ऐसा देश है जहाँ की संस्कृति औरतों को देवी से कम नहीं समझती. यहाँ नवरात्रो में कन्या पूजन होता है जहाँ छोटी छोटी लड़कों को बैठा कर देवी की तरह पूजा जाता है. पर इसी देश में एक तत्त्व ऐसा भी है जिसमे औरतो के साथ कई तरह के अपराध होते है. हालांकि ये बात सही है की कई ऊँचे पद जैसे राष्ट्रपति हो या फिर प्रधानमन्त्री का वहां तक औरते पहुंच गयी है.

source

पर इसके बावजूज औरतो के स्तिथी दर्दनायिक है. एक माँ बाप अपनी बेटी को इसी आशा में ससुराल भेजते है की वह वह खुश रहेगी. उसको वहां वो सामान मिलेगा. पर शादी के बाद उसके साथ कई बार उत्पीड़न के मामले सामने आते है.

source

आपको जानकार हैरानी होगी की दिल्ली जैसे शहर में एक जगह ऐसी है जहाँ पर शादी के बाद आयी बहु को बेचा जाता है. जहाँ मुँह दिखाई की रसम होनी चाहिए वह उसकी बोली लगायी जाती है.

आइये जानते है पूरी कहानी

source

दिल्ली में एक ऐसा समुदाय है जहाँ नयी नवेली दुल्हनों को ससुराल वाले बेचे देते है. इस समुदाय का नाम “परना” हैऔर यह नज़फगढ़ में रहते है. अपनी बहुओं से वेश्यावृति करवाने की परंपरा यहाँ पीढ़ियों से चली आ रही है.

दिन में घर का काम और रात में वेश्यावृत्ति

source

परना समुदाय में लड़कियों को पढ़ने लिखने की उम्र में शादी करके बससूराल भेज दिए जाता है. दिन में लड़किया अपने पति और बच्चों के लिए खाना बनती है और रात में वेश्यावृति के लिए निकल जाती है.

मार की डर से मान जाती है लड़किया

source

जो लड़किया ये सब करने से मना  करती है उनपर खूब अत्याचार किये जाते है. उनको बहुत मारा जाता है और कभी कभी तोह औरते मार मार खा के मर भी जाती है.

इनमे से कुछ लड़किया पढ़ना चाहती है पर उनकी कोई नहीं सुनता. उनके माँ बाप अपनी बेटियों के 14 -15 की छोटी उम्र में हे उनकी शादी कर देते है. इतना ही नहीं इससे कहीं ज़्यादा आश्चर्य वाली बात यह है की कुछ माँ बाप तक अपनी बेटियों से वेश्यावृति करते है.

Comments

comments