शूटिंग के बाद क्या होता है फिल्मो में हीरो-हीरोइन द्वारा पहने गए कपड़े का, जानिए !

हमारी भारतीय फिल्म इंडस्ट्री ने अपने 100 साल पुरे कर लिए है ! इन 100 सालो में कई बदलाव इस इंडस्ट्री में हुए ! जैसे की 1931 में रिलीज़ फिल्म आलम आरा से बोलती हुई फिल्मो का दौर शुरू हुआ !

उसके बाद 1937 में  फिल्म किसन कन्हैया पहली रंगीन फिल्म बनी जिसके बाद भारत ने दुनिया को स्क्रीन पर देखना शुरू किया ! इन सब के बीच इंडस्ट्री में रंग बिरंगे कपड़ो का चलन आया ! 1960 में रिलीज़ मुग़ले आज़म में लोगो ने जबरदस्त पहनावा देखा !

source

आपको बता दे की मुग़ले आज़म उस दौर में सबसे महंगी फिल्म थी ! इसके बाद कई फिल्मो में नए रंग बिरंगे कपड़े और आभूषण देखने को मिले ! लैकिन कई बार एक सवाल हमेशा से मन में आता है की एक गाने में ही 10 -10 कपड़े पहनने वाले एक्टर्स के कपड़ो का शूटिंग के बाद क्या होता है !

आपको बता दे की बहुचर्चित फिल्मो के कपड़े अक्सर नीलाम किये जाते है ! कपड़ो को नीलाम करने की यह परम्परा नई नहीं है बल्कि काफी पुरानी है ! फिल्म जंगली में शम्मी कपूर द्वारा पहने गए स्कार्फ को नीलाम किया गया था ! जिसकी कीमत 1 लाख 56 हजार रुपए मिली थी।

source

इस दौर में डायरेक्टर संजय लीला भंसाली अक्सर महंगे महंगे कपड़ो का इस्तेमाल अपनी फिल्मो में करते है ! फिल्म देवदास में माधुरी दीक्षित के लहंगे की कीमत 15 लाख रूपये थी ! माधुरी ने मार डाला गाने में इस लहंगे को पहना था जिसके बाद यह 3 करोड़ में नीलाम हुआ था !

source

इसके अलावा बॉलीवुड एक्टर्स द्वारा इस्तेमाल की गयी कई चीज़े भी नीलाम होती है ! फिल्म मुझसे शादी करोगी में सलमान का तौलिये वाला स्टेप तो आपको याद ही होगा ! इस तौलिये को नीलामी में 1 लाख 42 हज़ार रूपये में खरीदा गया !

इसके अलावा फिल्म लगान में आमिर का बैट और माधुरी की धक धक गाने वाली ड्रेस को नीलाम किया गया था ! आपकी जानकारी के लिए बता दे की नीलामी में कमाए जाने वाले पेसो को चैरिटी में दिया जाता है ! और जो ड्रेसेस नीलम नहीं होती है उहे एक बक्से में बंद करके रख दिया जाता है ! और उसके ऊपर से उस फिल्म के नाम की चिट लगा दी जाती है !

Comments

comments