दिव्या भारती की मौत के राज़ का सबसे बड़ा खुलासा, जाने क्यों हुई थी उनकी मौत

दिव्या भारती बहुत ही खूबसूरत और प्रतिभाशाली अभिनेत्री थी. वो 90 के दशक की टॉप एक्ट्रेसेस की लिस्ट में हमेशा अव्वल नंबर पर रहती थी. आज वो हमारे बीच नहीं है लेकिन दिव्या भारती जैसे अदाकारा को कोई नहीं भुला सकता.

आज भी बॉलीवुड में उन्हें टक्कर देने लायक कोई एक्ट्रेस नहीं है. यही नहीं अपने करियर की शुरुवात करने से पहले ही फिल्म निर्देशकों की लाइन लगी रहती थी उन्हें अपनी फिल्म में साइन करने के लिए.

जब उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा तो वो एक सुपरस्टार बन गयी. उन्होंने एक के बाद एक हिट फिल्में दी और कुछ ही समय में वो बॉलीवुड की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक बन गयी. लेकिन एक ऐसा दिन आया जब वो हमारे बीच नहीं रही.

दिव्या भारती के देहांत की खबर सुनकर पूरा बॉलीवुड दुःख में था. सभी को बहुत बड़ा शॉक भी लगा और कई फिल्म निर्देशकों की फिल्में अटक भी गयी. उनकीमौत के इतने सालों बाद भी इस गुत्थी को कोई सही तरीके से सुलझा नहीं पाया है. 5 फरवरी को दिव्या भारती की बर्थ एनिवर्सरी है.

उन्होंने अपने करियर की शुरुवात 17 साल की कम उम्र में तेलुगु फिल्म ‘बोबिली राजा’ (1990) से की थी. उन्होंने अपने छोटे से करियर में बहुत नाम कमाया. महज 3 साल में दिव्या ने करीब 21 फिल्मों में काम किया था, जिनमें से 13 बॉलीवुड की थी और बाकी साउथ की.

आज हम आपके सामने खोलेंगे दिव्या भारती की मौत के कुछ चौकाने वाले राज़.

एक दिन अपनी शूटिंग कैंसिल करने के बाद दिव्या ने अपने वर्सोवा वाले फ्लैट पर ड्रेस डिजाइनर फ्रेंड नीता लुल्ला और उनके हसबैंड डॉ. श्याम लुल्ला से मिलने का फैसला किया. ये बहुत काम लोग ही जानते हैं की ये फ्लैट उनके नाम पर रजिस्टर्ड नहीं था. नीता और उनके हस्बैंड करीब 10 बजे तक दिव्या के फ्लैट में रुके.

तीनो लिविंग रूम में बैठकर शराब पी रहे थे. तब वह दिव्या की मेड अमृता भी वह आ गयी. इसी दौरान अमृता किचन में चली गयी और दिव्या खिड़की की तरफ मुड़ गयी. तब नीता अपने पति के साथ लिविंग रूम में एक वीडियो देखने में व्यस्त थी.

इस खिड़की में कोई ग्रिल नहीं लगी थी. शराब के नशे में वो थोड़ी देर वही बैठी रही लेकिन जब उठने लगी तो उनका बैलेंस बिगड़ गया. खिड़की के गिलास का सहारा लेने के चक्कर में वो फिसल गयी और 5 मंज़िल निचे कॉनक्रीट के फर्श पर जा गिरी.

गिरने के बाद वो खून में लथपथ थी लेकिन उनकी सांसें चल रही थी. उन्हें जल्दी से कूपर हॉस्टिपल (मुंबई) के इमरजेंसी वॉर्ड में लेजाया गया जहाँ उन्होंने अपनी आखिरी सांसें ली.

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो इसे लाईक और शेयर करना ना भूलें.

Comments

comments